नीच राशि में सूर्य

 10365 Views
 0 Comments
 October 7, 2016

ज्योतिष में सूर्य को प्रसिद्धि, प्रतिष्ठा, सरकारी कार्य, पिता, पुत्र, हड्डी, यश, तेज, सत्ता, सकारात्मक ऊर्जा, आत्मा, आत्मविश्वास, इच्छाशक्ति, रोग प्रतिरोधक क्षमता, नेत्र ज्योति आदि का कारक माना गया है सिंह राशि पर सूर्य का अधिपत्य है, मेष राशि सूर्य की उच्च राशि और तुला राशि सूर्य की उच्च राशि है कुंडली में सूर्य का बली और शुभ स्थिति में होना जहाँ व्यक्ति को जीवन में प्रसिद्धि और सफलता देता है वही यदि सूर्य नीच राशि (तुला) में हो तो जीवन में बहुत सी समस्याएं भी उत्पन्न होती हैं।

यदि कुंडली में सूर्य नीच राशि (तुला) में स्थित हो तो ऐसे में व्यक्ति को जीवन में अच्छी प्रसिद्धि और प्रतिष्ठा नहीं मिल पाती और जीवन में यश की कमी भी रहती है अच्छा काम करने पर भी प्रसंसा प्राप्त नहीं होती, कुंडली में सूर्य नीच राशि में होने पर व्यक्ति में आत्मविश्वास और इच्छाशक्ति की भी कमी रहती है व्यक्ति प्रतिभावान होने पर भी अपनी प्रतिभा का अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाता, जॉब करने वाले जिन लोगो की कुंडली में सूर्य नीचस्थ हो उन लोगों को अपने बॉस,मालिक और सीनियर्स के साथ अनबन की स्थिति बनी रहती है तथा मेहनत के बाद भी ऐसे लोगो को अपने बॉस से एप्रिसिएशन नाहीं मिलती, सूर्य नीचस्थ होना पिता और पुत्र के सुख में भी कमी करता है या वैचारिक मतभेद की स्थिति बनती है, कुंडली में सूर्य नीच राशि में होने पर व्यक्ति को सरकारी कार्यों में बहुत अड़चने आती हैं, नीचस्थ सूर्य होने पर व्यक्ति की आंतरिक सकारात्मक शक्ति और इम्यून पॉवर भी कम होती है, सूर्य का नीच राशि में होना स्वास्थ में भी बहुत सी समस्याएं देता है नीचस्थ सूर्य से हृदय रोग, हड्डी और केल्सियम से जुडी समस्याएं, आँखों से जुडी समस्याएं, हेयर फॉल आदि समस्याएं उत्पन्न होती हैं इसके अलावा सूर्य कुंडली के जिस भाव में नीच राशि में होता है उस भाव को भी पीड़ित करता है और उस भाव के फलों में संघर्ष उत्पन्न करता हैं।

नीचस्थ सूर्य के लिए उपाय

  1. 1. घृणि: सूर्याय नमः का जाप करें।
  2. 2. आदित्य हृदय स्तोत्र का रोज पाठ करें।
  3. 3. सूर्य को रोज ताम्र पात्र से जल दें।
  4. 4. मस्तक पर लाल चन्दन का तिलक लगाएं।
  5. 5. किसी योग्य ज्योतिषी की सलाह के बाद माणिक भी धारण कर सकते हैं।

।। श्री हनुमते नमः।।

comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.